5 खाद्य पदार्थ आपके बच्चों के मस्तिष्क को स्वस्थ और तेज बनाते हैं

Share:

5 खाद्य पदार्थ आपके बच्चों के मस्तिष्क को स्वस्थ और तेज बनाते हैं



कौन से माता-पिता नहीं चाहते कि उनका बच्चा पढ़ाई, खेल में अन्य बच्चों से बेहतर हो, लेकिन हर अभिभावक की यह इच्छा पूरी नहीं हो पाती है। जरूरी नहीं कि हर बच्चा दूसरों की तरह शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ और बेहतर हो। उनका मस्तिष्क बच्चों को आगे बढ़ाने में एक आवश्यक भूमिका निभाता है, जिसके लिए उसका तेज होना आवश्यक है। यदि बच्चे का दिमाग तेज है, तो वह अपनी पढ़ाई और अन्य चीजों पर ध्यान दे पाएगा।


यही कारण है कि बच्चों का शारीरिक विकास धीमा हो गया है और उनके मानसिक विकास पर भी असर पड़ा है। इसके अलावा मोटापा सहित कई बीमारियों ने भी उसे अपनी चपेट में ले लिया है। माता-पिता के लिए यह आवश्यक है कि वे बच्चों को ऐसा भोजन दें जिससे उनका दिमाग तेजी से बढ़े। इसलिए, उन्हें अपने बच्चों के दिमाग को बढ़ाने के लिए ऐसी चीज खिलाने की जरूरत है, जिससे उनकी दिमागी शक्ति बढ़े।
अंडे

प्रोटीन से भरपूर अंडे न केवल स्वास्थ्य का एक अच्छा स्रोत हैं, बल्कि मस्तिष्क की शक्ति भी बढ़ाते हैं। अंडे में कोनोली नामक पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अंडे में पाया जाने वाला कैलीक्स मस्तिष्क की गतिविधियों के सुचारू संचालन और विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। अंडे की खासियत यह है कि इसे अलग-अलग तरीकों से खाया जा सकता है। बच्चे सैंडविच और सलाद के साथ अंडे खाना पसंद करते हैं। यदि आप ऐसा करते हैं, तो आपके बच्चे का दिमाग तेज है।
हल्दी

विरोधी भड़काऊ और एंटीऑक्सिडेंट गुणों से भरपूर हल्दी बच्चों की मानसिक शक्ति में सुधार करने के लिए उपयुक्त खाद्य पदार्थों में से एक है। हल्दी तंत्रिका कैंसर नामक मस्तिष्क की सूजन के खिलाफ लड़ाई में मौजूद है और इसे अल्जाइमर जैसी बीमारियों से लड़ने के लिए मजबूत करती है, जिससे उसका विकास होता है, और वह स्मार्ट और बुद्धिमान भी हो जाता है।
दूध

चूंकि दूध में कैल्शियम की मात्रा सबसे अधिक होती है, और यह बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए भी बहुत फायदेमंद है। दूध पीने से न केवल बच्चे की हड्डियां मजबूत होती हैं बल्कि उनका दिमाग भी तेज होता है। इसलिए बच्चों को रोजाना सुबह एक गिलास दूध देना चाहिए ताकि आपका बच्चा शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहे।
दही

अगर आपका बच्चा जूस पीता है, तो उसके लिए भी दही एक अच्छा विकल्प है। दही में, दूध के अनुपात में कैल्शियम अधिक होता है, और यह पचाने में भी आसान होता है। दही विटामिन बी और प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है, जो मस्तिष्क की गतिविधि में सुधार करता है और इसके विकास में सुधार करता है। दही में मौजूद प्रोबायोटिक बैक्टीरिया पाचन स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं।
हरी सब्जियाँ

 हालांकि हरी सब्जियां विटामिन से भरपूर होती हैं, जो मस्तिष्क की क्षमता के विकास के लिए कई तरह से आवश्यक हैं।

No comments