गर्भवती महिलाओं को आहार से जुड़ी इन बातों को मानसून से दूर रखना चाहिए। तब बच्चा स्वस्थ होगा

Share:

गर्भवती महिलाओं को आहार से जुड़ी इन बातों को मानसून से दूर रखना चाहिए। तब बच्चा स्वस्थ होगा


मानसून अक्सर अपने साथ कई बीमारियां और संक्रमण लेकर आता है। हम अक्सर बच्चों को इस मौसम को संभालने के निर्देश देते हैं, लेकिन अक्सर गर्भवती महिलाएं इस मौसम में फंस जाती हैं, इतना ही नहीं उन्हें अपने पेट की छोटी उम्र भी झेलनी पड़ती है। ऐसे मामलों में, गर्भवती महिलाओं को अपने आहार पर ध्यान देने की आवश्यकता है। मानसून के मौसम में खाने-पीने में जरा सी लापरवाही आपकी सेहत बिगाड़ सकती है। गर्भवती महिलाओं को इस मौसम में अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

डॉक्टर आमतौर पर ऐसे दूर में पौष्टिक भोजन लेने की सलाह देते हैं। मानसून में, गर्भवती महिलाओं को विटामिन, खनिज, कैल्शियम, प्रोटीन और कैलोरी से भरपूर खाद्य पदार्थ खाने चाहिए। आइए जानते हैं कि मानसून में गर्भवती महिलाओं को अपने आहार में किस तरह का ध्यान रखना चाहिए।

गर्भवती महिलाओं को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए-


अगर आप गर्भवती हैं, तो हमेशा ताजा खाना खाएं। इस मौसम में जरा सी लापरवाही आपको नुकसान पहुंचा सकती है।

फ्रिज का खाना न खाएं। उसे थोड़ा बाहर रखते हुए, उसका तापमान सामान्य होने दें।

दिन में आठ-दस गिलास पानी पिएं। बाहर के खाने से बचें।

जंक फूड की बिल्कुल अनदेखी करें।

मानसून में पत्तेदार सब्जियां न खाएं, क्योंकि इन सब्जियों में सेल्युलोज होता है जो ठीक से पचता नहीं है।

बारिश के मौसम में खुले में रखे फलों को काटकर न खाएं।

तला हुआ खाना न खाएं। यह जल्दी पचता नहीं है

ऐसी चीजें होनी चाहिए जो सूखी हों जैसे मक्का, बेसन, बेसन आदि।

इस मौसम में पीने के पानी का उपयोग सावधानी से करें। केवल उबालने और पीने के लिए जितना संभव हो उतना पानी पिएं।


ऐसी चीजें जो आपको मानसून में फिट रखेंगी-

हल्दी हमारे शरीर को कीटाणुओं से बचाती है। छोटी हल्दी में कुछ बूंदे पानी की मिलाकर, यह खाना पकाने में बहुत मददगार साबित होगी।

शहद आपके पाचन को स्वस्थ रखने में मदद करता है। रोजाना दो चम्मच शहद आपको फिट रखेगा, साथ ही इससे नींद भी अच्छी आएगी।

आप लहसुन की चटनी बनाकर खा सकते हैं। यह आपके शरीर को रोगग्रस्त बनाता है।

गर्भावस्था के दौरान आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन भी बहुत महत्वपूर्ण है। यह न केवल खून की कमी को दूर करता है बल्कि हड्डियों को भी मजबूत बनाता है।

उबला भोजन खाना गर्भावस्था का सबसे अच्छा समय है।

ऐसा भोजन गर्भावस्था में किया जाना चाहिए ताकि मोटापा न हो।

गर्भावस्था के आहार में, आपको कम से कम नमक का उपयोग करके गरिष्ठ भोजन लेना चाहिए।

गर्भवती महिला को गेहूं, ओट मिल और अनाज की रोटी ही खानी चाहिए।

पानी हमेशा किफायती होता है। गर्भवती महिला को अधिक पानी पीना चाहिए।

साथ ही ताजा भोजन, ताजे फल, ताजा रस, और उबला हुआ दूध और इससे बने पदार्थों का सेवन करना चाहिए।

बारिश के मौसम में, गर्भावस्था के दौरान कुछ चीजें जैसे मांस, अंडा, नट्स, पालक, गाजर, आलू, मक्का, मटर, संतरा, अंगूर, तरबूज और जामुन, ब्रेड, अनाज, चावल का सेवन अवश्य करना चाहिए।

No comments